Caa protests के बारे में जानकारी ?

  देश

caa act ka essay ?

जयपुर। यह पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से 31 दिसंबर, 2014 तक धार्मिक उत्पीड़न के चलते आने वाले हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, ईसाई और पारसी समुदाय के शरणार्थियों को नागरिकता देने के लिए है। इसके अलावा इन तीन देशों से भारत आए मुस्लिमों या फिर अन्य विदेशियों के लिए यह एक्ट नहीं है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह देशवासियों से बार-बार इस बात का उल्लेख कर रहे हैं कि नागरिकता संशोधन कानून में किसी भी भारतीय नागरिकों को कोई नुकसान नहीं है, फिर भी देश में लगातार हिंसक घटनाएं हो रही हैं।

हिंसक घटनाओं से हमारे देश का ही नुकसान हो रहा है

नागरिकता संशोधन कानून पर समूचा विपक्ष केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साध रहा है, दूसरी ओर देश जल रहा है। विपक्ष को चाहिए कि इस समय कम से कम संयम और शांति से काम ले। लेकिन विपक्ष इस हिंसक घटनाओं को और बढ़ावा देने में लगा हुआ है। नागरिकता संशोधन कानून पर पिछले एक हफ्ते से राजधानी दिल्ली समेत देश के कई शहरों में हो रही हिंसक घटनाओं से हमारे देश का ही नुकसान हो रहा है। देश के कई विपक्षी और पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान इन हिंसक घटनाओं को लगातार बढ़ावा दे रहा है। देश में तोड़फोड़, हिंसा, धरना-प्रदर्शन को रोकने के लिए हर एक भारतीय को आगे आना होगा। पूरा पढ़े। 

LEAVE A COMMENT