वर्ष 2020-21 का आम बजट कितना पेश किया गया ?

  देश, बिजनस

निर्मला सीतारमण द्वारा पेश किया गया बजट का दृश्य ?

नई दिल्ली। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने भारत को दुनिया की पांचवी बड़ी अर्थव्यवस्था बताते हुये शनिवार को कहा कि हमारी अर्थव्यवस्था की नींव मजबूत है और 2020-21 का बजट आकांक्षी भारत, आर्थिक विकास तथा संवेदनशील समाज की भावना पर केन्द्रित है।

सीतारमण ने मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में अपना दूसरा बजट पेश करते हुए दिवगंत अरुण जेटली को वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) का शिल्प एवं वास्तुकार बताते हुए कहा कि जीएसटी से देश की अर्थव्यवस्था एकीकृत हुई है और इससे इंस्पेक्टर राज समाप्त हुआ है।

उन्होंने कहा कि सरल जीएसटी रिटर्न प्रक्रिया आगामी एक अप्रेल से लागू की जाएगी। जीएसटी के तहत उपभोक्ताओं को एक लाख करोड़ रुपये के लाभ दिये गये हैं। विभिन्न उत्पादों पर जीएसटी में कमी किए जाने से प्रत्येक परिवार को मासिक व्यय में चार प्रतिशत की बचत हुई है। जीएसटी के लागू होने से 16 लाख नए करदाता जुड़े हैं।

उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था को औपचारिक बनाने के लिए कई कदम उठाए गए हैं और जीएसटी भी उन्हीं में से एक है। वित्त मंत्री ने कहा कि वर्ष 2006-16 के दौरान 27 करोड़ 10 लाख लोगों को गरीबी रेखा से ऊपर उठाया गया है। उन्होंने कहा कि सरकार के ऋण में उल्लेखनीय कमी आई है और यह मार्च 2014 के 52.5 प्रतिशत से मार्च 2019 में घटकर 48.7 प्रतिशत पर आ गया। पूरा पढ़े। 

LEAVE A COMMENT